बांध

राजघाट बांध:

राजघाट बांध एक अंतर-राज्य बांध है जो बेतवा नदी पर निर्मित है ललितपुर से लगभग 22 की.मि की दूरी पर है। इस परियोजना के अंतर्गत बेतवा नदी के ऊपर 43.80 मीटर ऊंची और 562.50 मीटर लम्बा पत्थर का काम होना है जो 29.5 मीटर की अधिकतम ऊंचाई तथा 10.79 किमी की कुल लंबाई वाले मिट्टी के बांध से घिरा होगा। यह बांध राकृतिक सुंदरता से भरा हुआ है तथा सैर सपाटे के लिए एक आदर्श स्थल है।यहां पर वृन्दावन गार्डन (मैसूर) की स्टाइन पर एक बाग की योजना प्रस्तावित की गयी थी। इस संबंध में हमें जानकारी मिली है कि इस योजना का प्रारूप तैयार करने के लिए किसी आर्किटेक्ट महोदय को 4 लाख रूपये का ठेका भी दिया गया था। इसके बारे में भी जानकारी करके इस योजना पर भी विचार किया जा सकता है।

माताटीला बांध:

यहां पर शिवपुरी, गुना, दतिया, झांसी, टीकमगढ़ जिलों से हजारों की संख्या में सैलानी अक्सर छुट्टियां बिताने व घूमने के लिए अवश्य आते हैं। इसी प्रकार ललितपुर के अन्य बांधों को भी विकसित किया जा रहा है।

इस समूह में माताटीला एवं तालबेहट दो प्रमुख पर्यटन स्थल हैं। इन स्थलों के विकास हेतु निम्न कार्ययोजना प्रस्तावित है- माताटीला बांध, बेतवा नदी पर निर्मित माताटीला बांध एक रमणीक स्थल है। बांध के नीचे अत्यंत सुरम्य बगीचा है। जिसमें विभिन्न्‍ प्रकार के पुष्प एवं मनोहारी वृक्ष लगाये गये हैं। यहां एक दुर्गा माँ का मंदिर पर्वत टीला पर स्थित है। जिससे इसका नाम माताटीला पड़ा। यहां पर विशाल झील में साहसिक नौकायन, वाटर स्पोर्ट आदि को विकसित करने की प्रबल संभावनायें है एवं साहसिक पर्यटन के लिए भी यह स्थान बहुत उपयुक्त हैं, क्योंकि चारों ओर फैली झील, पहाड़ियां एवं जंगल सहज ही पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। अत: इस स्थल पर पर्यटन दृष्टिकोण से विकसित किये जाने हेतु निम्न आवश्यकताएं है:-

  • यहां पर स्थित बांध की झील में साहसिक क्रीडायन / नौकायन हेतु मोटर वोट, पैडल वोट व अन्य उपकरणों का विकास।
  • यहां पर एक पर्यटन कार्यालय तथा पर्यटकों को ठहरने के लिये कम से कम दो होटलों का निर्माण कराया जाना।