नगर पालिका की उपलब्धियां

नगर पालिका बालिका इण्टर कालेज में कराये गये विकास कार्यो की अद्यतन स्थिति:-

  • विद्यालय में:- प्रधानाचार्या कार्यालय एवं कार्यालय आफिस कई वर्षों से अपूर्ण था। जिसको पूर्ण कराया गया प्रधानाचार्या कार्यालय की नई मेज कुर्सियों पेटी सहित सुशोभित किया गया जिसका वहन खर्च पालिका द्वारा सुनिश्चित हुआ।
  • पालिका विद्यालय में वाउण्ड्री की मरम्मत एवं मैदान को समान स्थल किया गया।
  • जीर्ण हालत में एवं कचरे से पूरी ऐतिहासिक रमणीक वाउण्ड्री (ऐतिहासिक कुआं गुफाग्रस्त अभिलेख युक्त) की सीड़ी मरम्मत दीवालों के खण्डों को वा वाउण्ड्री कीट की मरम्मत एवं छाप व रंग पुताई युक्त किया गया।
  • 11 कमरों हाल व वाउण्ड्री सहित डिस्टेम्पर पुताई कलई सहित कराई गई खिड़की रोशनदान, अलमारी किबाड़ों पर वार्निश पेन्ट द्वारा पुताई की गई।
  • बिजली 11 कमरों हालों सहित प्रधानाचार्या कार्यालय- कार्यालय में पंखों स्थाई फिटिंग ट्यूब लाईटों बल्बों सहित अच्छी रोशनी व्यवस्था सहित पूर्ण कार्य हुआ। एवं 25 पंखे नये उपलब्ध कराकर अच्छी वायुयुक्त छत्राओं के हित में कार्य पालिका द्वारा किया गया ।
  • पालिका विद्यालय में एक हैण्ड पम्प नया लगाकर पानी की कमी से 2 हैण्ड पम्प हो जाने से जल पूर्ति का कार्य पूर्ण हुआ।
  • बगैर वित्त मान्यता सहित विद्यालय को वित्तविहीन कक्षा 12 तक छात्राओं के हित हेतु शिक्षा की दृष्टि से 4 अतिरिक्त शिक्षिकाओं एवं अतिरिक्त दो परिसेविकाओं को गत वर्ष बोर्ड प्रस्ताव द्वारा अतिरिक्त सेवा में रखा गया।
  • इण्टरमीडिएट मानक पूर्ण करने हेतु 4 कमरों का निर्माण किया गया है जिसका लोकार्पण माननीय जिलाधिकारी श्री पवन कुमार जी द्वारा किया गया है।

भविष्य की योजनाएं:-

  • स्कूल का मेन गेट भव्य एवं शोभनीय बनाया जाना है।
  • स्कूल की सुरक्षा हेतु वाउण्ड्री कोट की 11 फिट या 10 फिट या ऊंचाई से किय जाना है।
  • वाउण्ड्री की प्याऊ टंकी टाइल्स युक्त अच्छी जल टोटी सहित दवा युक्त प्रदूषण जल सहित करना।
  • शौचालय, बाथरूम 10-10 की संख्या पूर्ण कराके समस्या का समाधान होना है छात्राओं की दृष्टि में संख्या से।

श्री पुरूषोत्तम नारायण इण्टर कालेज ललितपुर की प्रगति आख्या :-

  • विद्यालय की वाउण्ड्री की मरम्मत कराई गयी एवं उसे ऊंचा कराया गया एवं उसमें पुताई आदि कराई गयी।
  • विद्यालय में छात्रों की पेयजल समस्या हैण्डपम्प लगवाकर दूर की गयी।
  • छात्रों की निरन्तर बढ़ती हुई संख्या के कारण पांच मूत्रालय की मरम्मत करायी गयी एवं तीन नये मूत्रालय बनवाये गये।
  • विद्यालय की लैब की मरम्मत करायी गयी, कलई एवं डिस्टैम्पर कराया गया एवं रोशनदान बनवाये गये। फर्श की मरम्मत कराई गयी। खिड़की, दरवाजों एवं अलमारियों में वार्निश एवं पेंट कराया गया। प्रयोग में आने वाली मेजों तथा रैंक आदि पर पैण्ट कराया गया।
  • प्रधानाचार्य कक्ष, कार्यालय एवं वाचनालय कक्ष आदि की दरवाजों एवं खिड़कियों पर वार्निश कराया गया एवं दीवालों पर डिस्टैम्पर कराया गया।
  • पुराने बने हुये तीक कक्षों की मरम्मत करायी गयी एवं रंगाई-पुताई की गयी।
  • इस वर्ष गत वर्ष की अपेक्षा लगभग दस प्रतिशत अधिक छात्रों को विद्यालय में प्रवेश दिया गया।
  • छात्रों को बैठने आदि के लिए पुराने टूटे हुये फर्नीचर की मरम्मत करायी गयी एवं डेन्टिंग-पेंन्टिंग कराया गया।
  • विद्यालय में अध्यापकों की कमी थी इसलिए शिक्षण व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिये नगर पालिका परिषद, ललितपुर द्वारा अध्यापकों की संविदा पर नियुक्ति की गयी।
  • विद्यालय में परिचारकों की कमी को देखते हुये अस्थाई तौर पर परिचारकों की नियुक्त की गयी।
  • विद्यालय को इण्टरमीडिएट विज्ञान वर्ग की मान्यता की आवश्यकताओं को पूरा करने हेतु चार नवीन कक्षों का निर्माण कराया गया। जिसका लोकापर्ण जिलाधिकारी श्री पवन कुमार जी के करकमलों से सम्पन्न हुआ।
  • विद्यालय में वृक्षारोपण कराके उसे हरा भरा किया गया।